आलेख़

आधुनिकता और सभ्यता :: गुड़िया झा

आधुनिकता और सभ्यता :: गुड़िया झा समय के साथ सबकुछ बदलता है। पुरानी कार्य पद्धति की जगह नयी तकनीक से कार्य करना, आधुनिक मशीनें, रहन-सहन के स्तर में बदलाव, जीने के तौर तरीके आदि। वो कहते हैं ना कि अति किसी भी चीज की अच्छी नहीं होती है। कहने का आशय यह है कि हमारी […]

आलेख़

हारें नहीं बल्कि स्वीकार करें :: गुड़िया झा

हारें नहीं बल्कि स्वीकार करें :: गुड़िया झा परिवर्तन संसार का एक शाश्वत सत्य है। हमारे जीवन में सबकुछ एक जैसा नहीं रहता है। जब भी हमारे जीवन में उतार-चढाव आता है, तो हम परेशान हो जाते हैं। जब हम इस सत्य को स्वीकार करते हैं, तो बिल्कुल ही सहजता का बोध होता है। परिस्थितियों […]

आलेख़

कम करनी थी भीड़ बढ़ाते चले गए :: सुनील बादल

राची, झारखण्ड  | नवम्बर  | 16, 2022 :: कम करनी थी भीड़ बढ़ाते चले गए :: सुनील बादल झारखंड राज्य बनने के समय अनेक पत्रकारों, अर्थशास्त्रियों और अन्य विशेषज्ञों ने कहा था कि झारखंड बहुत बड़ी संभावनाओं वाला राज्य बनेगा और अति उत्साह में रूर घाटी के समकक्ष बताया गया था . यह भी कहा […]

आलेख़

विश्व सेवा दिवस 9 नवंबर :: नेकी कर और दरिया में डाल :: गुड़िया झा

विश्व सेवा दिवस 9 नवंबर :: नेकी कर और दरिया में डाल :: गुड़िया झा हम सभी कई तरह से एक-दूसरे की सेवा से ही जुड़े हुए हैं।अब सवाल उठता है कि वह कैसे? जब हम इसका सही तरीके से आकलन करेंगे, तो हमें इसकी एहमियत का पता चलता है। विश्व सेवा दिवस का मुख्य […]

Breaking News Latest News आलेख़ लाइफस्टाइल

चार नवंबर को है देवोत्थानी एकादशी : जानिए इससे जुडी पौराणिक कथा

  चार नवंबर को है देवोत्थानी एकादशी। तीज त्योहारो की अपनी एक महत्ता है। तीज त्योहारो से जुडी पौराणिक कथाये भी है। ऐसी ही एकादशी की पौराणिक कथा है। एक राजा के राज्य में सभी प्रजाजन एकादशी का व्रत रखते थे। सभी व्रत के दिन फलाहार करते थे। राज्य में इस व्रत के दिन कोई […]

आलेख़

विश्व बचत दिवस ( 30 अक्टूबर ) 

विश्व बचत दिवस ( 30 अक्टूबर  ) आज की बचत कल की सुरक्षा। गुड़िया झा। विश्व बचत दिवस का मुख्य उद्देश्य धन के अनुचित उपयोग पर रोक लगाकर अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति और भविष्य में आपातकालीन स्थिति के लिए बचत कर अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करना है। जिस दिन हमने वास्तविक रूप से आवश्यकता और इच्छा […]

आलेख़

सूर्य उपासना का महापर्व है छठ

  सूर्य उपासना का महापर्व है छठ । संतान प्राप्ति के लिए भी किये जाने वाला पर्व है ये। इस पर्व को मनाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। बिहार का तो यह सबसे बड़ा पर्व माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि जबसे सृष्टि बनी, तभी से सूर्य वरदान के रूप में […]

आलेख़

छठ पर्व पर कौन सा सा मंत्र सिद्ध करे – जानते है डॉ सुमित्रा अग्रवाल से

छठ पर्व पर कौनसा सा मंत्र सिद्ध करे – जानते है वास्तु शास्त्री डॉ सुमित्रा अग्रवाल जी से सूर्य उपासना का महापर्व है छठ पर्व। छठव्रत दीपावली के छह दिन बाद आरंभ होता है। संतान की समृद्धि और शैतान की अभिलाषा रखने वाली स्त्री कार्तिक शुक्ल षष्ठी के सूर्यास्त और सप्तमी के सूर्योदय के मध्य […]

आलेख़

दीपावली – दीपों का त्योहार

दीपावली – दीपों का त्योहार… जहां तक हिंदुओं का संबंध है, दिवाली भगवान श्री राम की प्राचीन कथा से जुड़ी हुई है, जिन्हें उनके राज्य से वंचित कर दिया गया था और लंबे 14 वर्षों के लिए वनवास में भेज दिया गया था। दिवाली, रावण की अंतिम हार और,14 साल बाद राम के अपने घर […]

आलेख़

डॉ सुमित्रा अग्रवाल से जानिए भैया दूज की कथा

डॉ सुमित्रा अग्रवाल से जानिए भैया दूज की कथा शास्त्रोंके अनुसार भैयादूज अथवा यमद्वितीया को मृत्यु के देवता यमराज का पूजन किया जाता है। इस दिन बहनें भाई को अपने घर आमन्त्रित करती है। कई बहने भाइयो के घर जाकर उन्हें तिलक करती हैं और साथ में भोजन भी करती हैं। यमुना तट का भैयादूज […]