Breaking News Latest News झारखण्ड

सांख्यिकी प्रणाली के बारे में जनसामान्य में जितनी जागरूकता बढ़ेगी उतने ही सटीक आकड़ों की प्राप्ति होगी : रंजीत कुमार तिवारी

रांची, झारखण्ड  | जून  | 27, 2022 ::

भारत सरकार के सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के अधीन राष्ट्रीय सांख्यिकीय कार्यालय (क्षेत्र संकार्य प्रभाग) एक नोडल एजेंसी है, जो पूरे देश भर में भारत सरकार के लिए प्रतिदर्श आधारित आंकड़ों को संग्रहण करने का कार्य करता है। यह संस्था राष्ट्रीय सांख्यिकी प्रणाली में डाटा संग्रहण के क्षेत्र में नियम कानून और मानक स्थापित करती है। यह भारत सरकार के लिए सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण, मूल्य संग्रहण कार्य, औद्योगिक सर्वेक्षण, रोजगार सम्बंधित सर्वेक्षण का कार्य करती है। इन आंकड़ों का देश के जी.डी.पी. के निर्धारण तथा देश एवं राज्य के विकास में प्रयोग किया जाता है। राष्ट्रीय सांख्यिकीय कार्यालय ( एन०एस० ओ० ) के आंकड़ों का उपयोग निम्न में किया जाता है :

गरीबी का आकलन और गरीबी रेखा को ठीक करना

. उपभोक्ता मूल्य सूचकांक और महगाई का आकलन राष्ट्रीय लेखा (जीडीपी) संकलन का आकलन रोजगार और बेरोजगारी परिदृश्य आकलन देश में सामाजिक-आर्थिक स्थितियों जैसे स्वास्थ्य, शिक्षा, ग्रामीण ऋण आवास की स्थिति, पर्यटन आदि

असंगठित क्षेत्रों का योगदान का आकलन क्षेत्रीय औद्योगिक विकास का आकलन

के विभिन्न पहलुओं को समझना, इत्यादि इन आंकड़ों से सम्बंधित एवं नियमन के लिए सांख्यिकी अधिनियम 2008 वर्तमान में है।

इस संबंध में यह भी अवगत कराना है कि भारत सरकार के सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा आज़ादी के 75 वे वर्ष के उपलक्ष्य पर 27 जून, 2022 से 3 जुलाई, 2022 तक आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के अवसर पर अनुप्रतीकात्मक (Iconic) सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत इस संस्था के द्वारा आज 27 जून 2022 को प्रोजेक्ट भवन के ऑडिटोरियम में एक राष्ट्रव्यापी प्रश्नोतरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में 32 कॉलेजों ने टीम के रूप में भाग लिया। कार्यक्रम की शुरुवात श्री सूरज कुमार, वरीय सांख्यिकी अधिकारी, राष्ट्रीय सांख्यिकीय कार्यालय (क्षेत्र संकार्य प्रभाग), भारत सरकार के स्वागत भाषण से हुआ। इस कार्यक्रम का उ‌द्घाटन श्री रंजीत कुमार तिवारी, आ.सां. से. उप-महानिदेशक, राष्ट्रीय सांख्यिकीय कार्यालय (क्षेत्र सकार्य प्रभाग), भारत सरकार एवं श्री राजीव रंजन, भा.प्र.से. अपर सचिव, योजना एवं विकास विभाग, झारखण्ड सरकार ने किया ।

इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में श्री राजीव रंजन, भा.प्र.से. अपर सचिव योजना एवं विकास विभाग, झारखण्ड सरकार एवं विशिष्ठ अतिथि के रूप में श्री हरीश्वर दयाल, अर्थ शास्त्री सह निदेशक प्रमुख योजना एवं विकास विभाग, झारखण्ड सरकार तथा श्री हृदय कुमार, उप निदेशक, अर्थ एवं सांख्यिकी निदेशालय, योजना एवं विकास विभाग, झारखण्ड सरकार उपस्थित रहे।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए क्षेत्र प्रमुख श्री रंजीत कुमार तिवारी, उप महानिदेशक, राष्ट्रीय सांख्यिकीय कार्यालय,

राँची, झारखण्ड ने संबोधित करते हुए बताया कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य आधिकारिक आंकड़ों के बारे में

जागरूकता को बढ़ावा देना और भारतीय आधिकारिक साख्यिकीय प्रणाली के विभिन्न पहलुओं के बारे में युवा दिमाग

को प्रबुद्ध करना है। इस सम्बन्ध में इस तथ्य पर जोर देना चाहिए कि सांख्यिकी प्रणाली के बारे में जनसामान्य

में जितनी जागरूकता बढ़ेगी उतना ही सटीक आकड़ों की प्राप्ति होगी।

इस प्रतियोगिता में “संत जेवियर कॉलेज, राँची विजेता बने। साथ ही नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ स्टडी एंड रिसर्च इन लॉ (NUSRL), राँची प्रथम उप विजेता तथा बिरसा कृषि विश्वविद्यालय, राँची द्वितीय उप-विजेता बने | सभी भाग लेने वाले छात्रों को भागीदारी प्रमाण पत्र प्रदान किया गया तथा विजेता टीमो को रोमांचक पुरस्कार प्रदान किए गए। इस प्रतियोगिता का संचालन क्विज मास्टर श्री माइकल घोष एवं श्रीमती मीनाक्षी शर्मा ने किया।

कार्यक्रम का समापन, धन्यवाद ज्ञापन श्री कमलेश प्रधान, वरीय सांख्यिकी अधिकारी, राष्ट्रीय सांख्यिकीय कार्यालय ( क्षेत्र सकार्य प्रभाग), भारत सरकार ने किया ।

Leave a Reply