Breaking News Latest News झारखण्ड बिज़नेस

बैंक की वैधानिक अंकेक्षण से सम्बंधित वर्चुअल सेमिनार का आयोजन

रांची, झारखण्ड  | अप्रैल  | 05, 2022 :: दी इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ इंडिया, राँची शाखा के द्वारा ” बैंक वैधानिक अंकेक्षण से सम्बंधित नियामक बदलावों और Finacle सॉफ्टवेयर के माध्यम से विभिन्न रिपोर्ट्स प्राप्त और अध्ययन” से सम्बंधित विषय पर एक वर्चुअल सेमिनार का आयोजन किया गया।

इस वेबिनार के द्वारा विशेषज्ञ वक्ता और सभी चार्टर्ड एकाउंटेंट्स का स्वागत करते हुए इंस्टिट्यूट के रांची शाखा के अध्यक्ष सीए प्रभात कुमार ने कहा कि आज के समय बैंको के सभी कार्य कंप्यूटराइज्ड हो गए है इसीलिए हम चार्टर्ड एकाउंटेंट्स को तकनिकी रूप से कुशल होना अनिवार्य है और आज का यह वर्चुअल सेमिनार हमें काफी लाभान्वित करेगा।  और हमें बैंको की बहुत से फाइलों और सिस्टम्स को देखना पड़ता है इस कारण आज के वेबिनार में बैंको में प्रयोग किया जाने वाली सॉफ्टवेयर Finacle में विभिन्न रिपोर्ट्स निकलने से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी जो हमें बैंको की वैधानिक अंकेक्षण करने में काफी सुविधा पहुंचाएगी।

इस वेबिनार के प्रथम तकनिकी सत्र में बैंको की वैधानिक अंकेक्षण से सम्बंधित इस वर्ष में हुए नियामक बदलावों पर चर्चा करते हुए कानपूर के विशेषज्ञ सीए अनिल सक्सेना ने कहा कि बैंक कि वैधानिक अंकेक्षण से पूर्व हमें इस वर्ष इस अंकेक्षण से सम्बंधित रिज़र्व बैंक के द्वारा किया गए नियामक बदलावों को अच्छे प्रकार से अध्ययन कर लेनी चाहिए।  ये सारे बदलाव रिज़र्व बैंक की वेबसाइट पर उपलब्ध है।  उन्होंने साथ ही कोरोना महामारी के द्वारा सरकार के विभिन्न योजनाओं के द्वारा लोन में जो रि-स्ट्रक्चर किया गया है उसे अच्छे से देखकर यह सुनिश्चित कर लेना जरुरी है की यह रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के द्वारा दिए गए नियम के अनुसार हुए है या नहीं।

विशेषज्ञ सीए वर्णिका गुप्ता, कानपूर  ने कम्प्यूटरीकृत माहौल में बैंको के अंकेक्षण के लिए महत्वपूर्ण बिंदुओं की जानकारी देते हुवे कहा की आज लगभग हर बैंकों का कार्य कंप्यूटर के द्वारा ही संपन्न होती है , इससे हमारे लिए अंकेक्षण का कार्य भी काफी आसान हो गयी है लेकिन इसमें फ्रॉड की भी काफी सम्भावना होती है अत हमें इसके लिए कम से कम कम्प्यूटरीकृत माहौल में अपना अंकेक्षण का कार्य करने की जानकारी होना अति आवशयक है| उन्होंने बैंकों में कार्यरत सॉफ्टवेयर और उनसे रिपोर्ट प्राफ्त करने की विधि के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि  आज लगभग हर बैंक अपने कार्य हेतु Finacle या इससे मिलती जुलती सॉफ्टवेयर पर अपनी बही खातों का सञ्चालन करती है और यदि हमें इसके बारे में जानकारी हो तो हम अच्छी तरह से ऑडिट संपन्न कर सकते है।  उन्होंने बैंको के कार्यों में प्रयोग लाये जाने वाले सॉफ्टवेयर Finacle से विभिन्न तरह के रिपोर्ट निकलने के लिए इसके शॉर्टकट के के बारे में विस्तार से बताई।

इस वेबिनार का समापन रांची शाखा के सचिव सीए अभिषेक केडिया के धन्यवाद् ज्ञापन से हुआ।  वेबिनार का सञ्चालन सी पी इ कमिटी की अध्यक्षा सीए श्रद्धा बगला ने किया।

Leave a Reply