Breaking News Latest News झारखण्ड

वर्तमान में योग की प्रासंगिकता विषय पर वेबीनार का आयोजन

रांची, झारखण्ड |  अक्टूबर   | 10, 2020 ::  सरला बिरला विश्वविद्यालय रांची के योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा विभाग तथा इंडियन योगा एसोसिएशन झारखंड स्टेट चैप्टर कमेटी के संयुक्त तत्वाधान में वर्तमान में योग की प्रासंगिकता विषय पर एक वेबीनार का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि एवं मुख्य वक्ता के रूप में भारत के सुप्रसिद्ध योग विशेषज्ञ एवं अध्यक्ष हरियाणा योग परिषद हरियाणा सरकार  डॉ जयदीप आर्य उपस्थित थे।

कार्यक्रम का शुभारंभ योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा  विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर कुमार राकेश रोशन पराशर द्वारा उपस्थित समस्त अतिथियों का स्वागत एवं उनके परिचय के साथ कराया गया।

इस अवसर पर मानविकी एवं  एवं योग  संकाय के सह शैक्षिक अधिष्ठाता  प्रोफेशन डॉक्टर राधा मोहन झा द्वारा उपस्थित समस्त श्रोताओं को संबोधित करते हुए कहा गया कि इस वैश्विक कोरोना काल मे  योग एवं आयुर्वेद ही दृघ जीवन जीने का सहारा है।

इस अवसर पर इंडियन योगा एसोसिएशन के चेयर पर्सन रामजीवन पांडे ने उपस्थित समस्त श्रोताओं को संबोधित करते हुए कहा कि आज बाबा रामदेव जी  के कारण योग घर-घर तक जन जन तक पहुंचा।

इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एवं मुख्य वक्ता डॉ जयदीप आर्य जी ने उपस्थित समस्त साधकों को संबोधित करते हुए योग एवं आयुर्वेद के माध्यम से कोरोना से कैसे बचा जा सकता है ।

इस पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला उन्होंने कहा कि योग आयुर्वेद में ऐसी कई विधियां हैं जिसका नियमित प्रयोग करने से अभ्यास करने से व्यक्ति के रोग प्रतिरोधक क्षमता का पूर्णता विकास होता है और वह इस रोग को पराजित करने में सक्षम हो जाता है।

उन्होंने कहा कि हमारे आदि ऋषि महर्षि होने पूरे विश्व को यह जो महान विद्या योग जैसी महान विद्या विश्व को दिया है जिसके कारण आज भारत की कोरोना से मौत में आंकड़ा सबसे कम है ।

इस अवसर पर सरला बिरला विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ विजय कुमार सिंह ने श्रोताओं को संबोधित करते हुए कहा कि निश्चित ही योग को आयुर्वेद को अपनाकर आज का मानव स्वस्थ आनंदित जीवन जी रहा है। समस्त चिकित्सा पद्धतियों में आज विश्व में योग एवं आयुर्वेद को सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया।

इस अवसर पर इंडियन योगा एसोसिएशन झारखंड स्टेट चैप्टर कमेटी के सेक्रेटरी अमित कुमार ने उपस्थित समस्त अतिथियों एवं श्रोताओं का धन्यवाद ज्ञापन करते हुए कहा कि योग ऐसी महान विद्या है जिसने विश्व पटल पर भारत को फिर से विश्व गुरु के रूप में स्थापित किया है।

इंडियन योगा एसोसिएशन पूरे विश्व में योग के प्रचार प्रसार के लिए गहनता से कार्य कर रहा है।

इस अवसर पर इंडियन योगा एसोसिएशन के रामजीवन पांडे, डॉक्टर परिणीता  प्रीतम मानिक, मनोज कुमार राय, बलराम, डॉ अनुज, रवि प्रकाश, अर्चना कुमारी, अनुराग कुमार, प्रोफेसर कविता कुमारी, प्रोफेसर रिया मुखर्जी समेत कई गणमान्य अतिथि उपस्थित थे

Leave a Reply