Sunil Burman
राशिफल

दैनिक राशिफल : दिनांक 13 अक्टूबर 2019, दिन रविवार :: डॉ स्वामी दिव्यानंद जी महाराज ( प्रख्यात ज्योतिषी )

Sunil Burman

रांची, झारखण्ड । सितम्बर | 13, 2019 :: प्रख्यात ज्योतिषी डॉ स्वामी दिव्यानंद जी महाराज के अनुसार दैनिक राशिफल : दिनांक 13 अक्टूबर 2019, दिन रविवार

मेष- मांगलिक कार्यों के पीछे धन ब्यय होंगे, घरेलु विवाद के कारण म उद्विग्न रहेगा, मसूर की दाल
ब्राम्हण को दान करना श्रेयस्कर होगा।

वृष- आमदनी के मार्ग पक्के होने हैं पुरुषार्थ के द्वारा स्वागत करें, कोशिश करें कि भाईयों से दूरी ना बनें,
उम्मिद के बागिचे में फल खिलेंगे।

मिथुन- नौकरी के क्षेत्र में पदोन्नती के योग भी पक्के दिख रहे हैं, बिष्णु भगवान की आरधना करें सारे
उम्मिद फलिभूत होते दिखेंगे।

कर्क- आध्यात्मिक यात्रा के लक्ष्य की दूरी कम होती दिखेगी, सदगुरु के मार्गदर्शन का अनुसरण करते रहें,
मन में शान्ती का साम्राज्य स्थापित रहेगा।

सिंह- आयुष्य लाभ प्राप्त होंगे, अतिथी सत्कार के भी सुअवसर मिलेंगे, स्मरण रहे किसी बात पर
जिद में ना अडें विवेक से समय के साथ तादात्म्य बना कर चलें।

कन्या- ब्यापार के क्षेत्र में आपका सारा परिश्रम सुफल की प्राप्ति करायेगा, मान सम्मान की प्राप्ति होगी,
भाग्योन्नती के भी द्वार खुलने वाले हैं उनका आलिंगन करें।

तुला- शत्रु स्वतः शांत हो जायेंगे आप अपने उर्जा का क्षय ना करें, बाहरी स्थानों से लाभ प्राप्त होगा मौका
हाथ से चूक ना जायें, राहुदेव का स्मरण करते रहें।

बृषिचक- पुरुषार्थ के बिना कोई चारा नहीें है ज्यादा योजना बनाने में समय जाया ना करके कार्य रुप दें,
सुअवसर बिद्यार्थीयों के द्वार खटखटा रहा है लाभ उठावें मौका बार बार हाथ नहीें आता है।

धनु- नये वाहन जमीन के सपनों को धरातल पर लाने की चेष्टा करें पृष्ठभूमि तैयार है, पिताजीके द्वारा
कोई सौगात पाने की भी आशा है आप भी उनका ख्याल रखें।

मकर- भाईयों का सहयोग अत्यंत लाभदायी सिद्ध होगा तालमेल बना कर चलें, धार्मिक यात्रा के योग बनते
हैं तैयारी रखें, शनिदेव के कृपापात्र बने रहें।

कुंभ- धनागम के योग वहां से हा सकता है जहां आप सोचे भी न हों, संपती के लाभ भी
अनायास ही हो सकता है, सूर्यदेव को अघर््य दें जयादा लाभ मिलेगा।

मीन- पानी पीने में कंजूसी ना करें स्मरण रखें जल ही जीवन है, बिद्यार्थीयों को अध्ययन में
बिशेष मेहनत की जरुरत है तभी आशातित परिणाम मिलेंगे

————————————————————–

तिथी पूर्णिमा रात्री 01.58 उपरांत प्रतिपदा
पक्ष – शुक्ल

मास – आश्विन

विक्रम संवत – 2076

शकसंवत – 1941

नक्षत्र – उत्तराभाद्र प्रातः 08.30 पर्यन्त, उपरांत

दिशाशूल – पशिचम एंव नैऋत्य यात्रा ना करें,
आवश्यक हो, तो पान खाकर
घर से निकलें,

राहूकाल – 04.30 से 06.00

चैघडिया मुहूर्त – चर- 07.15 से 08.42
लाभ — 08.42 से 10.08
अमृत — 10.08 से 11.35
शुभ– 01.02 से 02.28

जन्मदिन मंगलम- श् 4 श्
अंक ज्योतिष के अनुसार- स्वामी ‘‘ हर्षल ‘‘ हैं।

शुभ व्यवसाय- शराब, स्प्रीट, टाइपिस्ट, छपाई, खनिज,
ठेकेदारी, रेलवे, सरकारी सहायक आदि।

व्रत- गणेश चतुर्थी।

शुभ मंत्र- ॐ गं गणपतये नमः।
देव- गणपति महाराज।
आज का व्रत त्योहार/खास – कोई खास नहीं।

————————————————————–

डा. स्वामी दिब्यानन्द (डा. सुनिल बर्मन) 9431108333

Leave a Reply