Latest News ख़बरें जरा हटके झारखण्ड राष्ट्रीय

सखी मंडल से उद्यमी सखी मंडल की ओर बढ़ते कदम : अब देश भर में बिकेगी बुंडू की इमली

 

राँची, झारखण्ड । जून | 02, 2017 :: बुंडु प्रखण्ड के बानाबुरु गाँव में नई उमंग ग्रामीण सेवा केंद्र का उद्घाटन ग्रामीण विकास के अपर मुख्य सचिव एन एन सिन्हा ने किया। आजीविका मिशन संपोषित सखी मंडल की बहनें बानाबुरू गांव में इमली को प्रसंस्करण कर बाजार में बेचने की तैयारी कर रही है। नई उमंग ग्रामीण सेवा केंद्र सखी मंडल की बहनों का एक अनूठा प्रयास है जिसके जरिए इमली का संग्रहण, प्रसंंस्करण एवं पैकेजिंग कर बाजार में बिक्री का कार्य किया जाएगा।

झारखण्ड स्टेट लाईवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी संपोषित आजीविका सखी मंडल के सदस्यों के जरिए 11 उत्पादक समूह बनाकर इस कार्य को शुरू किया गया है। इस उत्पादक समूह में करीब 300 महिलाएं जुड़ी हुई है जो इमली के उत्पादन का काम करेंगी । इस वर्ष इमली का उत्पादन ३७ क्विंटल ही हुआ है वहीं अनुमान के मुताबिक उत्पादक समूह के माध्यम से अगले वर्ष यह उत्पादन ५० से ७० क्विंटल तक होने की संभावना है।
वर्तमान में 15 महिलाएं ग्रामीण सेवा केंद्र का कार्य देख रही है जो प्रतिदिन 4 घंटे काम करती है.

इमली प्रसंस्करण यूनिट के उद्घाटन के अवसर पर मुख्य अतिथी एन एन सिन्हा ने ग्रामीण महिलाओं को बदलाव की वाहक करार दिया। श्री सिन्हा ने महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी सफलता तैयारियों पर निर्भर करती है और आप अच्छी तैयारी कर रही है। मुझे उम्मीद है कि हम सब मिलकर गांव में आर्थिक विकास की नई राहें तैयार कर उत्पादन की गतिविधीयों को हर घर से जोड़ेंगे। श्री सिन्हा ने सखी मंडल की महिलाओं से जैविक खेती, वर्षा के पानी का प्रबंधन, पशुपालन एवं सखी मंडल के जरिए समाज विकास में अहम भागीदारी निभाने की अपील की।
ग्राामीण विकास के अपर मुख्य सचिव श्री सिन्हा ने समाज में व्याप्त कुरीतियों के लिए भी सखी मंडल को काम करने की बात कही एवं ग्रामीण महिलाओं के इस नए प्रसंस्करण यूनिट को 3 फेज बिजली के लिए भी आर्थिक सहायता देने की बात कही।

परितोष उपाध्याय, सी.ई.ओ. झारखण्ड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी ने सभी को बधाई देते हुए कहा की जरुरत पड़ने पर एक और प्रसंस्करण इकाई सह ग्रामीण सेवा केंद्र की स्थापना की जाएगी। जहां न सिर्फ इमली बल्कि लाह और सब्जियों का भी प्रसंस्करण हो सकेगा। साथ ही आपको प्रशिक्षण भी उपलब्ध कराया जाएगा। इन महिला उद्यमियों के उत्पाद को देश भर ते बाजार से भी आने वाले दिनों में जोड़ने की योजना है।
बुंडू के नई उमंग ग्रामीण सेवा केंद्र का गठन दीन दयाल अंत्योदय योजना आजीविका मिशन के तहत किया गया है।ग्रामीण महिलाओं को आजीविका के नए अवसरों से जोड़ने के लिए महिला किसान सशक्तिकरण परियोजना के तहत उत्पादक समूह बनाकर उत्पादन को बढ़ावा दिया जा रहा है। यह अभिनव प्रयास इसी कड़ी का पहला कदम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *